चाइना एप्स के जगह ये एप्स इस्तेमाल कर सकते है..


भारतीय सेना और भारतीय सरकार अपने स्तर पर जो कर रही है, उसे करने दीजिये। आइये, हम लोग दूसरा काम करते हैं। Google के प्लेस्टोर पर टॉप 100 में लगभग 44 एप्स चाइनीज हैं, अगर आप उन एप्स को इस्तेमाल करते हैं तो मैं आपको उनका बेहतर विकल्प दे रहा हूँ -

1. फाइल ट्रांसफर - SHAREit चाइनीज डेवलपर्स का एप है। आप शेयरइट या Xender की जगह Files by Google इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप आईफोन यूजर हैं तो Send Anywhere का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ भारतीय विकल्प JioSwitch और Share ALL के रूप में भी मौजूद हैं।

2. फोटो एडिटिंग - BeautyPlus, YouCam Perfect और Camera360 चाइनीस डेवलेपर्स एप्स हैं। इनके विकल्प के तौर पर आप PicsArt और Candy Camera को आजमा सकते हैं। सेल्फी मेकओवर के लिए इजरायली डेवलपर का एक एप Facetune2 भी एक बेहतर विकल्प है।

3. वीडियो एडिटिंग- Qvideo चाइनीज एप है, इसके विकल्प के तौर पे आप InShot को इस्तेमाल कर सकते हैं, ये अमेरिकी डेवलपर का एप है। साउथ कोरिया का KineMaster भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

4. शार्ट एंटरटेंटमेंट प्लेटफॉर्म - इस कैटेगरी में चाइनीस एप्स का भारत में बड़ा दबदबा है। TikTok के चाइना के बाद भारत में ही सबसे ज्यादा यूज़र हैं, जिनकी 20 करोड़ मंथली एक्टिव में संख्या है। इसके अलावा चाइनीस एप्स Likee, Kwai, Vigo Video, VMate के इस्तेमाल करने वालों की भी भारत में बड़ी संख्या है। इनके विकल्प के तौर पर हम कैलिफोर्निया बेस्ड डेवलपर का Triller इस्तेमाल कर सकते हैं। Dubsmash भी बेहतर विकल्प है और भारतीय एप Mitron एक बार फिर से प्लेस्टोर पर आ चुका है।

5. फाइल स्कैनर - CamScanner चाइनीज एप है। इसके विकल्प के तौर पर आप Adobe Scan, Microsoft Office Lens या Scanbot ट्राई कर सकते हैं। इन सबमें वो सारे फीचर हैं जो आपको कैमस्कैनर में मिलेंगे।

6. ऑफिस प्रोग्राम - WPS चाइनीज एप है। अभी ये कई एंड्रॉयड डिवाइस के साथ पहले से इंस्टॉल्ड भी आने लगा है। इसके विकल्प के तौर पर Microsoft Office को इस्तेमाल किया जा सकता है।

7. सोशल नेटवर्किंग सर्विस - चाइनीज एप Helo भारतीय बाजार में काफी कामयाब है। इसके विकल्प में आप भारतीय एप ShareChat को इस्तेमाल कर सकते हैं। 

2019 में भारत में लगभग 19 अरब एप्स डाउनलोड हुए थे। चीन के तकनीकी निवेशकों ने ये सब देखते हुए ही भारतीय स्टार्टअप्स में चार अरब डॉलर का निवेश किया था। मार्च, 2020 तक एक अरब डॉलर से ज़्यादा वैल्यू वाले 30 भारतीय स्टार्टअप्स में तो 18 में चीनी निवेशकों का ही पैसा लगा हुआ है। चाइनीज एप लगातार आपके डेटा की चोरी कर रहे हैं और देश चाइना के साथ आर्थिक, सामरिक, वायरस और साइबर हर जगह जंग के मोर्चे पर है। इस मसले पर आप सभी ध्यान दीजिए क्यूंकि इतने एप्स और भारतीयों के इतने अधिक डेटा के साथ किसी भी एक रात साइबर अटैक की दशा में चीन, भारत को बड़ा नुकसान पहुँचा सकता है।

      पोस्ट को शेयर जरूर करे.. 

Post a comment

0 Comments